New India News
Otherनवा छत्तीसगढ़

“हमर छत्तीसगढ़” आसिफ इक़बाल की कलम से…

गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ का लक्ष्य पूरे संकल्प से पूरा होगा-भूपेश बघेल 

गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ का लक्ष्य पूरा करने आज़ादी के 75 वीं जयंती से नया सफर शुरू होगा।उक्ताशय की घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज़ादी की 75 वीं वर्षगांठ पर राजधानी के पुलिस परेड मैदान पर राष्ट्रीय तिरंगा का ध्वजारोहण किया।मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के आमजनों को संबोधित करते हुए कहा कि गांधी जयंती से एक वर्ष के भीतर 300 इंडस्ट्रियल रूरल पार्क की स्थापना का लक्ष्य पूरा करेंगे और जन्माष्टमी से कृष्णकुंज की स्थापना होगी।अपने संबोधन को आगे बढाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी शिक्षा सत्र से राज्य के 422 स्कूलों में स्वामी आत्मानंद योजना लागू होंगी।भूपेश बघेल ने कहा कि देश और हमर छत्तीसगढ़ के हज़ारों विभूतियों की शहादत हमें देश व छत्तीसगढ़ के लिए सर्वोच्च बलिदान की प्रेरणा देती रहेगी।उन्होंने कहा कि हमने जो न्याय योजना शुरू की थी,उसे आगे बढाने के लिए भी हम सभी संकल्पबद्ध रहेंगे।आगे बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राजीव गांधी न्याय योजना को शुरू हुए अब तीन वर्ष पूरे ही गए हैं,यही वजह है कि इस योजना के ज़रिए किसानों को 13 हज़ार करोड़ की इनपुट सब्सिडी प्रदान की जा चुकी है। मुख्यमंत्री ने आगे बताया कि इस सीजन से किसानों को प्रति एकड़ 9 हज़ार रूपए की आदान-सहायता देने वाला छत्तीसगढ़ देश का सर्वप्रथम राज्य हैIइसी तरह गौधन न्याय योजना को भी तीन वर्ष हो गए हैं,इस योजना से अब तक गोबर विक्रेताओं,गौठान समितियों व स्व-सहायता समूहों को 312 करोड़ रुपए का भुगतान किया जा चुका है,वहीं किसानों की सिंचाई-कर की माफी की पहल में भी विस्तार किया गया है,और 17 लाख किसानों की 342 करोड का सिंचाई-कर माफ किया जा चुका है।मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि श्रम कल्याण मंडल में पंजीकृत श्रमिक परिवारों के बच्चों को शैक्षणिक छात्रवृत्ति के रूप में 30 हज़ार रुपए तक की राशि,मेधावी शिक्षा पुरस्कार योजना के तहत एक लाख रुपए तक की राशि तथा खेलकूद प्रोत्साहन योजना के तहत डेढ़ लाख रुपए तक देने का प्रावधान किया गया है।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लोगों को भरोसा दिलाया है कि सरकार राज्य में विकास,रोज़गार, स्वास्थ्य,शिक्षा,आर्थिकी,कृषि, सिंचाई के क्षेत्र में बहुमुखी प्रयास लगातार कर रही है और निरंतर राज्य में न्याय की विरासत की आगे बढ़ाता जा रहा है।

छत्तीसगढ़ में दलहन की खेती का रकबा 15 लाख हेक्टेयर बढ़ेगा-चौबे,,,,,


हमर छत्तीसगढ़ अनादि काल से ‘धान का कटोरा’ माना जाता रहा है और आज भी यही मान्यता है लेकिन भूपेश-सरकार नई कृषि क्रांति लाने की दिशा में आगे बढ़ रही है।प्रदेश के कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने बताया है कि किसानोँ को धान के अलावा दलहन की खेती करने को प्रोत्साहन दिया जा रहा है।कृषि मंत्री ने यह भी बताया कि दलहन का उत्पादन करने वाले किसानों को 09 हज़ार रुपए की राशि प्रति एकड़ का अनुदान दिया जा रहा है।भूपेश-सरकार द्वारा दलहन उत्पादन को बढावा देने किसानों से अरहर व मूंग की खरीदी 6600 समर्थन मूल्य की जगह 8000 रुपए प्रति किवंटल की दर पर की जा रही है।गौरतलब है कि बीते दो वर्षों में दलहन की खेती के रकबे व उत्पादन में बढोत्तरी हुई है।अब छत्तीसगढ़ में 11 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में दलहन की खेती हो रही है,जिसके आगामी दो वर्षों में बढ़कर 15 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में दलहन की खेती होने की संभावना व्यक्त की जा रही है।किसानों से ज़्यादा से ज़्यादा रकबे में दलहन की खेती उत्पादन का आह्वान किया गया है।कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने उक्ताशय की बात यहां इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा भारतीय अनुसंधान परिषद,नई दिल्ली के सहयोग से आयोजित दो दिवसीय रबी दलहन उत्पादन कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए व्यक्त किए।उन्होंने छत्तीसगढ़ के कृषि विकास में योगदान के लिए विश्वविद्यालय के योगदान की विशेष रूप से सराहना की।

नक्सलियों के खिलाफ ‘बस्तर फाइटर्स’में 9 ट्रांसजेंडर चयनित,,,,


हमर छत्तीसगढ़ में नक्सल प्रभावित बस्तर रेंज में छत्तीसगढ़ राज्य पुलिस की नई विशेष इकाई “बस्तर फाइटर्स” के लिए 2100 कांस्टेबल का चयन किया गया है,खास बात है कि इसमें ट्रांसजेंडरों के समुदाय से 09 का चयन भी पहली दफे हुआ है,जो नक्सलियों का सामना करेंगे।बस्तर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक(आईजी) पी.सुंदरराज ने इन सभी के साथ ट्रांसजेंडरों को उनके चयन पर खुशी ज़ाहिर करते हुए बधाइयां दी है।पुलिस का मानना है कि ये लोग आदिवासी बहुल इलाके में नक्सलियों का सामना करने नया आयाम क़ायम करेंगे।आई जी ने यह भी बताया कि 09 ट्रांसजेंडरों में 08 कांकेर तथा 01 बस्तर जिले के रहवासी हैं।आईजी पी सुंदरराज ने कहा है कि इन थर्ड जेंडरों पुलिस कर्मियों को काम करने के लिए अनुकूल वातावरण व सुविधाएं उपलब्ध कराने की कोशिश की जाएगी,ताकि पुलिस बल के भीतर उन्हें किसी तरह का भेदभाव महसूस ना हो।आईजी ने यह भी बताया कि इन्हें ड्यूटी से पहले सभी को पुलिस प्रशिक्षण केंद्र,माना, रायपुर में प्रशिक्षण दिया जावेगा।गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने स्थानीय युवाओं को विशेष रूप से भर्ती करने के लिए विशेष बल “बस्तर फाइटर्स” के गठन का निर्णय लिया था।इस फोर्स में ऐसे युवाओं को शामिल किया गया है,जो आदिवासियों से घुले-मिले और इलाके से परिचित हों और ये स्थानीय संस्कृति और भाषा के जानकार हों।इनकी नक्सल-आंदोलन के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका होगी।यहां यह भी जान लें कि बस्तर फाइटर्स में चयन के लिए स्वीकृत 2100 पदों के लिए 53 हज़ार 336 आवेदन मिले थे,जिनमें 15,822 महिलाओं तथा 16 ट्रांसजेंडरों से उम्मीदवारों के आवेदन मिले थे।आईजी का कहना था कि चयन के लिए शारिरिक व लिखित परीक्षा के उपरांत 09 ट्रांसजेंडरों सहित 2100 चयनित की सूची जारी की गई।बस्तर फाइटर्स की भर्ती ने युवाओं के लिए बस्तर में शांति तथा विकास में सक्रिय भूमिका के नए मार्ग खोले हैं।

मरीजों के परिजनों को आश्रय देने बना ‘दाई कोरा’ अनुकरणीय-सीएम बघेल,,,,,,


हमर छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भरत वर्मा व उनकी धर्मपत्नी गंगोत्री वर्मा ने अपने स्वर्गवासी पुत्री स्मृति गुंजन बघेल एवं पुत्र राकेश वर्मा की सुनहरी यादों को चिरस्थायी बनाने डीकेएस अस्पताल में भर्ती मरीजों के परिजनों को आश्रय देने अपने साढ़े 45 लाख के खर्च से मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय को 12 बिस्तरों का आधुनिक सर्वसुविधायुक्त “दाई कोरा” बनवाया है।दाई कोरा के निर्माण की सराहना करते हुए इसे अनुकरणीय बताते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उदघाटन किया।इस महत्वपूर्ण अवसर पर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव इससे वर्चुअली जुड़े जबकि पूर्व मंत्री रायपुर ग्रामीण क्षेत्र के वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा व विधायक कुलदीप जुनेजा,मेयर एजाज़ ढेबर,कलेक्टर डॉ सर्ववेश्वर भूरे व सीएचएमओ डॉ मीरा बघेल सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारी व नागरिकों की उपस्थिति रही।दान से बने आश्रय भवन दाई कोरा में 6-6 पुरुष-महिला कक्ष अटैच बाथ बनाया गया है।यहां शुद्ध एक्वा पेयजल एवं कूलर की व्यवस्था की गई है।वेब पॉर्टल अयान न्यूज़ का कहना है कि दान से बने दाई कोरा के निर्माण से सेवाभाव के प्रति समाज के लोगों को प्रेरणा मिलेगी।मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ मीरा बघेल ने दानवीर दम्पत्ति भरत-गंगोत्री वर्मा के प्रति आत्मीय आभार व्यक्त किया है।

छत्तीसगढ़ सरकार को जन-जागरूकता बढ़ाने यूनिसेफ ने मुख्यमंत्री को सौंपे 1100 संचार उपकरण,,,,,,

बावन परियोँ के 9 पुजारियों से 5 लाख की रकम ज़ब्त,,,,


हमर छत्तीसगढ़ में रायगढ़ ज़िला पुलिस ने खरसिया कन्या भवन में ज़बर्दस्त छापेमारी कर बावन परियों(ताश-जुआं) के 9 पुजारियों(जुआड़ियों)को रंगे हाथ पकड़ा और महफ़िल सज़ा कर बैठे इन जुआड़ियों से 5 लाख की रकम तथा कईं मोबाइल खरसिया पुलिस के हाथ लगे है। महफ़िल में रमे ये लोग सफेदपोश व धनाढ्य वर्ग के हैं।इनकी जुआं एक्ट में गिफ्तारी से खलबली मची हुई है और राजनीतिक दबाव भी उभर रहा है और कोशिश की जा रही है कि इनके नाम रिकार्ड में ना आए।

देश के चर्चित शायर नूर कोहली फरमाते हैं,,,

“घर पड़ौसी का महक जाए चमन की सूरत

तेरे आंगन से मोहब्बत की वो खुशबू निकले,,

Related posts

राज्य का पहला सिविल अस्पताल जहाँ मिलेगी ब्लड बैंक की सुविधा

newindianews

मुख्यमंत्री भूपेश ने भगवान जगन्नाथ के किए दर्शन, अच्छी बारिश होने की कामना की

newindianews

मुख्यमंत्रीभूपेश बघेल ने कलेक्ट्रेट परिसर में छत्तीसगढ़ महतारी की प्रतिमा का किया अनावरण

newindianews

Leave a Comment