New India News
नवा छत्तीसगढ़राजनीति

“हमर छत्तीसगढ़” आसिफ इक़बाल की कलम से… अंक 27

नरवा कार्यक्रम ने बदली नौकरी की चाह,,मिर्ची की खेती से 6 माह में कमाए 4 लाख,,,,,,

क्या कभी सरकारी नौकरी की चाह रखने वाले किसान की किस्मत पल्टी खा सकती है और ऐसा हुआ भी है,बस्तर के कोंडागांव ज़िले के बड़े कनेरा गांव के किसान कुसरो लाल के साथ।इस किसान कुसरो लाल के खेत के पास एक मार्कण्डेय नाला बहता है।जिसमें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नरवा कार्यक्रम के तहत जल संरक्षण,चेक डैम,ब्रश वुड,बोल्डर चेक डैम,गेबियन संरचना,परकोलेशन टैंक का निर्माण किया गया है,जिसका लाभ किसान उठा रहे हैं।कुसरो लाल बताते है,उनके खेत के पास नरवा है,जिसमें साल भर पानी का भराव रहता है।

वहां से पम्प लगाकर पानी खेत तक लाकर ड्रिप इरिगेशन करते हैं।पहले हर युवा की तरह कुसरो भी बी.एस-सी.की पढ़ाई-लिखाई के बाद सरकारी नौकरी की चाहत रखता था,लेकिन नरवा कार्यक्रम ने कुसरो की किस्मत व मन दोनों ही बदल दिया।यह कायाकल्प सुराजी गांव के नरवा कार्यक्रम के तहत जल संवर्धन करते हुए बरसाती नालों का उपचार कर जल भराव करने रोकथाम किया गया।बताते हैं,अब तक वनांचलों में 9 हज़ार नालों का उपचार करके विभिन्न संरचनाएं बनाई गईं,निससे जल स्तर भी बढ़ा है।

कुसरो अपने 2 एकड़ खेत में धान की फसल लेते हैंऔर 65 ख़ज़ार रुपए का बैंक कर्ज़ भी लिया था,जो मुख्यमंत्री के वायदे के अनुरूप उसे भी माफ किया गया।अब मिर्ची की खेती कर कुसरो ने 6 महीने में मिर्ची बेचकर 4 लाख की कमाई कर ली है।ऐसा है,नरवा कार्यक्रम से लाभ व विकास कु बात सिद्ध हुई है।

बस्तर में कोंडागांव के राजराम गांव की महिलाएं मछलीपालन की आधुनिक तकनीक से बन रहीं आत्मनिर्भर,,,,,,,,

हमर छत्तीसगढ़ में बस्तर के कोंडागांव के राजाराम गांव की स्व-सहायता समूह की महिलाएं मछलीपालन के लिए आधुनिक पद्धति अपनाकर सशक्त रूप से आर्थिक आत्मनिर्भर बन रहीं हैं।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बस्तर में अपने भेंट-मुलाकात अभियान के तहत जब कोंडागांव विधानसभा के राजागांव पहुँचे,तब वहां रूरल इंडस्ट्रियल पार्क जैसे बने गौठान का निरीक्षण किया और वहां उन्होंने पाया कि स्व-सहायता समूह की महिलाएं मछली पालन के लिए आधुनिक पद्धति अपनाकर आर्थिक रूप से सशक्त बन रही है।मुख्यमंत्री भी महिलाओं की कार्य के प्रति लगन व इच्छाशक्ति की सराहना की है।

गौरतलब है कि मां वैष्णवी स्व-सहायता समूह की महिलाएं “बायोफ्लॉक तकनीक अपनाती हैं,जिसके लिए एक छोटी-सी टँकी का उपयोग किया जाता है जिसमें एक तालाब के बराबर मछली का पालन किया जाता है।इसमें मछली के मल से प्रोटीनयुक्त बैक्टीरिया जन्म लेती है,जिसका चारे के रूप में उपयोग लाई जाती है और चारे के लिए अतिरिक्त व्यय से बचत हो जाती है।महिला समूह की सदस्य ममता बच्छड ने यह भी बताई कि करीब 15 हज़ार लीटर की टँकी में 5 किंवटल मछली का पालन किया जा सकता है।इसके बाद,समूह की महिलाओं को 6 महीने के भीतर 70 से 80 हज़ार रुपए की आमदनी हो जाती है।मुख्यमंत्री ने मछलीपालन की पूरी पद्धति को स्वयं देखा और सराहना करते हुए असीम मंगलकामनाएँ भी दीं।

दाई-दीदी क्लीनिकों में एक लाख से अधिक महिलाओं का इलाज,,,,,

हमर छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य की जनकल्याणकारी दाई-दीदी क्लीनिकों के माध्यम से स्लम बस्तियों में जाकर एक लाख से अधिक महिलाओं को इलाज की सुविधा दी गई।गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ शासन के नगरीय प्रशासन विभाग द्वारा दाई-दीदी क्लिनिक योजना आरम्भ की गई है।गंदी बस्तियों(स्लम एरिया)में रहने वाली गरीब व बीमार महिलाओं व उनके बच्चों व बच्चियों का निःशुल्क इलाज किया जा रहा है,

वहीं मरीजों की पैथालॉजी जांच की व्यवस्था भी मुफ्त में की जा रही है,इसके साथ ही परामर्श व दवाइयां भी दी गईं।बताते हैं कि दाई-दीदी क्लीनिकों योजना के ज़रिए स्लम बस्तियों में 1333 शिविर लगाए गए,जिसमें एक लाख से ज़्यादा महिलाओं का इलाज किया गया है,वहीं 17 हज़ार 986 महिलाओं के विभिन्न लैब-जांच टेस्ट किए गए और 95 हज़ार 47 महिलाओं को मुफ्त दवाइयां भी वितरित की गई।

थॉमस कप विजेता भारतीय टीम ने भूपेश बघेल को भेजा बैडमिंटन-किट का उपहार,,,,,,,,

हमर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को थॉमस कप विजेता भारतीय बैडमिंटन टीम के खिलाड़ियों ने हस्ताक्षरयुक्त बैडमिंटन-किट उपहार के बतौर भेजा है,जिसे भारतीय बैडमिंटन संघ के सचिव संजय मिश्रा ने मुख्यमंत्री को उनके निवास-कार्यालय में भेंट किया।मुख्यमंत्री ने उपहार स्वीकार करते हुए कहा कि भारतीय बैडमिंटन टीम ने 73 वर्षों में पहली बार अंतरराष्ट्रीय थॉमस कप जीतकर एक नया इतिहास रचा है।उन्होंने भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों के खेल की सराहना की और शुभकामनाएं दी।जनपत्र वेब न्यूज़ पोर्टल के संपादक गिरीश मुक्तिबोध ने बताया है कि अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन संघ द्वारा छत्तीसगढ़ में आगामी सितंबर माह में इंटरनेशनल बैडमिंटन चैलेंज स्पर्धा आयोजित करने का निर्णय लिया है।

भारतीय बैडमिंटन संघ के सचिव संजय मिश्रा ने उक्ताशय की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री से इसमें सहयोग करने का आग्रह किया और बताया कि इस स्पर्धा के आयोजन से बैडमिंटन के वैश्विक खेल मानचित्र पर छत्तीसगढ़ की उज्ज्वल उपस्थिति उभरेगी।इसके साथ ही छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय बैडमिंटन प्रशिक्षण केंद्र शुरू होने की सभावना भी बढ़ेगी।मुख्यमंत्री ने इंटरनेशनल आयोजन के लिए हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया और सहमति प्रदान करते हुए जल्द बैडमिंटन अकादमी की प्रकिया शुरू करने के निर्देश अधिकारयों को दिए।

इस अवसर पर खेल व युवा कल्याण संघ की संचालक श्रीमती श्वेता श्रीवास्तव सिन्हा सहित छत्तीसगढ़ बैडमिंटन असोसिएशन के कोषाध्यक्ष संजय भंसाली,छत्तीसगढ़ के राष्ट्रीय बैडमिंटन खिलाड़ी हीरल चौहान,तनु चंद्रा,रौनक चौहान,अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी नीता डुमरे व सबा अंजुम तथा वेटलिफ्टर रुस्तम सारंग भी उपस्थित रहे।

गरियाबंद कोतवाली पुलिस की गिरफ्त में पिता-पुत्र से50 लाख के हीरों की जब्ती,,,,

हमर छत्तीसगढ़ में गरियाबंद की कोतवाली पुलिस ने पायलीखण्ड के हीरा खदान से लेकर निकले पिता-पुत्र से 745 नग हीरों की जब्ती करने में सफलता हासिल की है,इन हीरों की कीमत 50 लाख रुपए आंकी जा रही है।गौरतलब है कि कोतवाली थाना प्रभारी शोभा को मुखबिर से उक्ताशय की सूचना मिली थी,तब ज़िले के पुलिस कप्तान जे आर ठाकुर के मार्गदर्शन में, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चंद्रेश ठाकुर एवं अनुविभागीय अधिकारी(पुलिस)मैनपुर के अनुजकुमार के पर्यवेक्षण में कुशियार बरछा कचना धुरवा के पास नाकाबंदी प्वाइंट लगाया गया था।जहां से स्लेटी कलर की स्कूटी से गुज़र रहे ओडिसा निवासी दो पिता-पुत्र की चेकिंग की गई,जो हीरा बेचने ग्राहकों की तलाश भी कर रहे थे।

पुलिस को देखकर स्कूटी सवार दोनों हड़बड़ा गए और भागने लगे लेकिन जल्द ही दोनों सपड़ा गए।पुलिस ने नवरंगपुर ओडिसा निवासी खोखन ढली(49 वर्ष) तथा विप्लव ढली(19 वर्ष)को पकड़ा और उनकी तलाशी लेने पर उनके पास से बहुमूल्य 745 नग हीरे की जब्ती हुई,जिनकी कीमत करीब 50 लाख बताई जा रही है।पूछताछ में दोनों आरोपियों ने कोई वैध दस्तावेज़ प्रस्तुत नहीं किए।पुलिस ने इन पर धारा 379,34 व माइनिंग एक्ट की धारा 4(21)के तहत अपराध पंजीबद्ध कर 745 नग हीरा,स्कूटी व मोबाइल ज़ब्त किया है।गरियाबंद ज़िला पुलिसअपने पुलिस कप्तान जे आर ठाकुर के मार्गदर्शन में ज़िले में आपराधिक गतिविधियों सहित गांजा व अवैध शराब बिक्री, जुआं, सट्टा तथा हीरा तस्करी ओर अंकुश लगाने की कोशिश में जुटी हुई है।

यूपीएससी की परीक्षा छत्तीसगढ़ के 11 युवा सफ़ल,श्रद्धा शुक्ला को मिली 45 वीं रैंक,,,,,,,

भारत में सिविल सेवा के लिए यूपीएससी परीक्षा के नतीजों में छत्तीसगढ़ के 11 युवाओं ने बाज़ी मारी है।इनमें रायपुर की श्रद्धा शुक्ला ने 45 वीं रैंक हासिल करने का गौरव हासिल किया है।श्रद्धा शुक्ला,राजधानी के कांग्रेस के प्रवक्ता-नेता व संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला की बेटी हैं।नतीजे में छत्तीसगढ़ के 11 युवाओं ने सिविल सेवा में बड़ी सफलता दर्ज़ की है।इनमें आईएएस रेणु पिल्ले व आईपीएस संजय पिल्ले के सुपुत्र अक्षय पिल्ले ने 51वीं रैंक की सफलता दर्ज़ की है।जबकि धमतरी की ईशु अग्रवाल(81),धमतरी के ही प्रखर चन्द्राकर(102),रायगढ़ के मयंक दुबे(147),मगरलोड के गांव भैंसमुडी की पूजा साहू(199),रायपुर के प्रतीक अग्रवाल को(156),रायपुर की दिव्यांजलि जायसवाल को (216),अभिषेक अग्रवल(254),कवर्धा के आकाश श्रीश्रीमाल(316) और महासमुंद के आकाश शुक्ला को (390)ने सिविल सेवा की कठिनतम परीक्षा में सफलता अर्जित कर छत्तीसगढ़ को गौरवान्वित किया है।मुख्यमंत्री ने सिविल सेवा की परीक्षा में सफलता अर्जित करने वाले छत्तीसगढ़ के युवाओं की सराहना करते हुए बधाईयाँ ढ़ी हैं।

मध्यप्रदेश में सिवनी शहर के चर्चित युवा शायर मिनहाज कुरैशी फरमाते हैं,,,,

//”कोई हम सा ना मिलेगा,कहीं तुझको ए दोस्त”,,,,
हम ने माना कि तेरे चाहने वाले हैं बहुत”,,,,,//

Related posts

“हमर छत्तीसगढ़” आसिफ़ इक़बाल की कलम से अंक 57

newindianews

महिला एवं बाल विकास मंत्री ने राज्य स्तरीय कार्यशाला ‘उमंग‘ का शुभारंभ किया…

newindianews

शाहरुख खान की ‘पठान’ ऐतिहासिक रूप से हिट

newindianews

Leave a Comment