New India News
Otherनवा छत्तीसगढ़

“हमर छत्तीसगढ़” आसिफ इक़बाल की कलम से…अंक 77

राष्ट्रीय रामायण महोत्सव का पहला विहंगम आयोजन रायगढ़ में,,,,,

हमर छत्तीसगढ़ में कला व संस्कृति की नगरी रायगढ़ में राष्ट्रीय रामायण महोत्सव का विहंगम आयोजन पहली बार होने जा रहा है,जिसमें सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को आमंत्रित किया गया है।राष्ट्रीय रामायण महोत्सव का आयोजन एक प्रतियोगिता के स्वरूप में होगा।गौरतलब है कि आयोजन में राज्यों से रामायण झांकी प्रदर्शन समूह के प्रतिनिधिमंडल को आमंत्रित किया गया है।नृत्यनाटिका का विषय महाकाव्य रामायण के अरण्य कांड पर आधारित होगा।हमर छत्तीसगढ़ राज्य धार्मिक एवं सांस्कृतिक विरासतों से समृद्ध एक ऐसा प्रदेश है ,जिसका श्री राम, माता कौशल्या व उनके जीवन-चरित्र पर आधारित महाकाव्य रामायण से बहुत गहरा नाता रहा है। छत्तीसगढ़ राज्य को श्री राम की माता कौशल्या की जन्मभूमि होने का विशेष गौरव प्राप्त है।माता कौशल्या का जन्म तत्कालीन दक्षिण कोसल में हुआ था,जो वर्तमान छत्तीसगढ़ प्रदेश में है।माता कौशल्या को उनके उदार भाव,उनके ज्ञान और श्री राम के प्रति अगाध वात्सल्य प्रेम भाव के लिए जाना जाता है।यही कारण है कु उन्हें मातृत्व भाव के प्रतीक के रूप में कई स्थानों पर पूजा जाता है।इसके साथ ही छत्तीसगढ़ राज्य एक अकेला ऐसा राज्य है जहाँ चन्द्रखुरी नामक स्थान पर माता कौशल्या का मंदिर स्थापित है।भगवान राम ने अपने वनवास के 14 वर्षों में अधिकांश 10 वर्ष दंडकारण्य में व्यतीत किए थे,इससे जुड़ी अनेक दंत कथाएँ प्रचलित हैं।छत्तीसगढ़ के वनग्रामों में वनगमन तथा लंबा समयकाल यहां व्यतित किए थे।भगवान राम ने दो महत्वपूर्ण नदियों शिवनाथ व महानदी के तटों के आसपास बहुत समय बिताया था।रायगढ़ के ऐतिहासिक रामलीला मैदान पर ही तीन दिवसीय राष्ट्रीय रामायण महोत्सव का भव्य आयोजन किया जा रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री बाबा की स्काय-डायविंग,, हौसले की उड़ान,,,,,


हमर छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव को सरगुजा के महाराज के रूप में भी जाना-पहचाना जाता है।टी एस बाबा इन दिनों आस्ट्रेलिया के दौरे पर हैं,जहां महाराजकुमार ने स्काई डायविंग कर हौसले की ऊंची उड़ान भरी और लुत्फ उठाया है।एयरक्राफ्ट से हज़ारीन फुट की ऊंचाई से छलांग लगाकर ज़मीन पर आते हैं।स्काई डायविंग पर बना बाबा का वीडियो सोशल मीडिया पर धूम मचाते हुए वायरल हो रहा है।टी एस बाबा ने 70 साल की उम्र में 7 हज़ार फुट की ऊँचाई पर स्काई डायविंग की,,उड़ान के दौरान टी एस बाबा ने कहा कि आकाश की ऊंचाई कोई सीमा नहीं होती।मुख्य मंत्री भूपेश बघेल ने भी बाबा की स्काई डायविंग के साहस की प्रशंसा करते हुए कहा कि वाह,,महाराज साहब, आपने तो कमाल ही कर दिया,आपका हौसला व जोश यूं ही बुलंद रहे,,शुभ कामनाएं ।टी एस बाबा के हौसले की हर कोई तारीफ कर रहा है और जमकर वीडियो को शेयर कर रहा है।स्वयं बाबा ने अपने ऑफिसियल टिवटर पर ढाई मिनट का वीडियो शेयर किया है।स्काई डायविंग के पहले अपने गाइड के साथ बातचीत करते हुए बाबा काफी ख़ुश नज़र आ रहे थे।गाइड उनसे उनके अनुभव के बारे पूछता है,जिस पर स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव कहते हैं,,ज़िंदगी में स्वतंत्रता का एक नया अनुभव है,मेरे लिए यह एक नया अनुभव है।

मैनपाट में एक हज़ार एकड़ सरकारी जमीन का फ़र्ज़ीवाड़ा,जनदर्शन में शिकायत,,,,


हमर छत्तीसगढ़ में सरगुजा इलाके में सुप्रसिद्ध मैनपाट में 4 गांवों के ग्रामीणों ने कलेक्टर के जनदर्शन कार्यक्रम में शिकायती पत्र देकर आरोप लगाया है कि इन चार गांवों में एक हज़ार एकड़ सरकारी ज़मीन का फर्जीवाड़ा कर 100 करोड़ का गबन किया गया है।इस फर्जीवाड़ा की जांच कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की गई है।शिकायती आरोप मैनपाट के 4 ग्रामों कडकराजा,बरिमा,नर्मदापुर व उरँगा के सरपंच व उपसरपंच के साथ बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने लगाया हैसरपंच,उपसरपंच सहित ग्रामीणों का कहना है कि तहसीलदार,पटवारी और आदिम जाति सेवा सहकारी समिति नर्मदापुर के सह-प्रबंधक ने मिलीभगत कर एक हज़ार एकड़ सरकारी भूमि को निजी मद में दर्ज कर धान विक्रय व बैंकों से क़र्ज़ लेकर 100 करोड़ से अधिक का गबन कर शासन को क्षति पहुँचाई गई है।ग्रामीणों ने बताया है कि ग्राम कंडकराजा में सरकारी भूमि खसरा नम्बर 1,39,297,300 व 301 की भूमि आदिमजाति सेवा सहकारी नर्मदापुर के सह-,प्रबंधक के पद पर पदस्थ मोहन यादव द्वारा स्वयं व अपने परिजनों के नाम से 390 एकड़ सरकारी भूमि का बटांकन कर निजी मद में दर्ज करा लिया गया है।सरकारी ज़मीनों का फ़र्ज़ीवाड़ा सरगुज़ा इलाके में चल रहा है।देखना है ग्रामीणों की शिकायतों पर कलेकटर क्या कार्रवाई करते हैं,,,,

छत्तीसगढ़ का मिक्स्ड मार्शल आर्ट की समूर्ण चेम्पियनशिप पर कब्ज़ा,,,,,,

हमर छत्तीसगढ़ की मिक्स्ड मार्शल आर्ट की टीम ने लखनऊ में संपन्न चेम्पियनशिप पर अपना दबदबा कायम करते हुए चेम्पियनशिप ट्राफी पर कब्ज़ा किया है।मिक्स्ड मार्शल आर्ट एसोसीएशन ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के खिलाड़ियों ने अदिव्तीय खेल का प्रदर्शन किया और अद्भुत मेडल हॉल ले आए।छत्तीसगढ़ के खिलाड़ियों ने यह साबित किया है कि उनमें क्षमता व संकल्प है।इन खिलाड़ियों ने 16 गोल्ड,08 सिल्वर और 11 ब्रॉन्ज मैडल जीता है।इस तरह छत्तीसगढ़ ने प्रथम,महाराष्ट्र ने दूसरा और तीसरा स्थान उत्तरप्रदेश के हिस्से में रहा।इस महत्वपूर्ण आयोजनमे छत्तीसगढ़ के प्रत्येक खिलाड़ी ने समर्पण एवं अनुशासन का प्रदर्शन किया है।गोल्ड व सिल्वर मेडल जीतने वाले खिलाड़ी अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता के पात्र होंगे।

छत्तीसगढ़ की गीता यादव का खेलो इंडिया वार्षिक स्कालरशिप के लिए चयन,,,,,,

हमर छत्तीसगढ़ में आवासीय हॉकी अकादमी ,बहरतराई बिलासपुर की गीता यादव का खेलो इंडिया की वार्षिक स्कालरशिप के लिए चयन हुआ है।इस स्कॉलरशिप में गीता यादव को प्रतिवर्ष 6लाख 20 हज़ार रुपए मिलेंगे।गीता यादव की इस उपलब्धि के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व खेल मंत्री उमेश पटेल ने असीम शुभकामनाएँ व बधाइयां दी है।उन्होंने यह भी कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार अपने खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय मानकों के हिसाब से बेहतर सुविधाएँ उपलब्धि कराने के लिए कई खेल अकाडमिंयों का निर्माण कर रही है,ताकि हमारे खिलाड़ी प्रशिक्षण पाकर देश का नाम रौशन कर सकें।गौरतलब है कि खेलो इंडिया नईदिल्ली के सौजन्य से राजनांदगांव में एसेसमेंट कैप लगाया गया था।जिसमें वेस्ट ज़ोन जूनियर चेम्पियनशिप में गीता यादव नेशनल हॉकी टीम से खेल चुकी हैं।इस उपलब्धि के लिए गीता यादव की बधाई देते हुए खेल सचिव नीलम सचदेव एक्का,खेल संचालक श्वेता श्रीवास्तव सिन्हा एवं बिलासपुर अकादमी के हेड कोच विकास पॉल ने बधाइयां दी है।

छत्तीसगढ़ में सामाजिक बहिष्कार के ख़िलाफ़ कानून बने–डॉ दिनेश मिश्र,,,,,


हमर छत्तीसगढ़ में अंध श्रद्धा निर्मूलन को दिशा में सार्थक रूप से कार्यरत समिति के अध्यक्ष डॉ दिनेश मिश्र ने कहा है कि राजनांदगांव ज़िले के छुरिया ब्लाक के गैंदाटोला के तिपानगढ़ में सामाजिक बहिष्कार की एक घटना सामने आई है,जिसमें एक परिवार ने ग्रामीणों के सामाजिक बहिष्कार से परेशान होकर खुद को मकान में बंद कर लिया था।तिपानगढ़ के साहू परिवार की सुखबती बाई एवं उसकी सात साल की खुशबू साहू ग्रामीणों के बहिष्कार से परेशान होकर कई दिनों से बंद थे।कई दिनों तक दरवाजा न खुलने पर बाद में सभी को गम्भीर हालत में सामुदायिक सवास्थ्य केंद्र में लाया गया।जहां 50 साल की सूक्खबती की उपचार के दौरान मौत हो गई।डॉ मिश्र ने कहा कि हमारे यहां सामाजिक और जातिगत स्तर पर सक्रिय ग्राम पंचायतों द्वारा सामाजिक बहिष्कार के मामले सामने आते रहते हैं।ग्रामीण इलाकों में ऐसी घटनाएं बहुतायत से होती हैं।जिसमें ग्राम पंचायतों के जातिगत फरमान का पालन ना करने पर उनका सामाजिक बहिष्कार या हुक्का-पानी बंद जर दिया जाता है।पूरे प्रदेश में 30 हज़ार से अधिक लोग इसके शिकार हैं।सामाजिक कुरीति के खिलाफ जनजागरण एवं प्रताड़ित लोगों की मदद के लिए अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति लगातार काम कर रही है।ऐसे सामाजिक बहिष्कार के खिलाफ विधानसभा में सक्षम कानून बनाए जाने की ज़रूरत है ताकि प्रताड़ित लोगों को न्याय व पुनर्वास किया जा सके।इसके लिए डॉ मिश्र सभी जन-प्रतिनिधियों को पत्र लिखकर अनुरोध करने जा रही है।

देश के मशहूर शायर रहमत अमरोही फरमाते हैं,,

”शराफ़तों की सजा कर दुकान रखते थे,,,
मेरे बुजुर्ग बड़ी आन बान रखते थे”

Related posts

बुलडोजर मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई… जज बोले- ‘इससे नगर निगमों की ताकत घट जाएगी’

newindianews

सरगुजा पुलिस द्वारा जिला अस्पताल अंबिकापुर के सामने एवं आसपास यातायात व्यवस्था सुदृढ़ करने की गई कार्यवाही

newindianews

रायपुर : मजबूत ग्रामीण अर्थव्यवस्था का साकार मॉडल बना जेवरतला का आदर्श गौठान

newindianews

Leave a Comment