New India News
नवा छत्तीसगढ़राजनीति

डीएमएफ मद की राशि खनन से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष प्रभावित जिलों के साथ ही नवगठित जिलों में प्राथमिकता के साथ की जाएगी आवंटित: मुख्यमंत्री श्री बघेल

  • मुख्यमंत्री के निर्देश-स्वास्थ्य व शिक्षा संबंधी उपकरणों के लिए विभागीय बजट का किया जाए उपयोग, अति आवश्यक सेवाओं के लिए हो डीएमएफ का इस्तेमाल
  •  डीएमएफ मद के आय-व्यय के सोशल ऑडिट के लिए राज्य स्तरीय प्रकोष्ठ का किया गया गठन
  • मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में खनिज न्यास मद की राज्य स्तरीय निगरानी समिति की बैठक संपन्न

Newindianews/Raipur मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज उनके निवास कार्यालय में खनिज न्यास मद की राज्य स्तरीय निगरानी समिति की बैठक आयोजित हुई। मुख्यमंत्री ने डीएमएफ मद से उच्च और सामान्य प्राथमिकताओं को ध्यान में रखते हुए मितव्ययिता पर विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा है कि जिले में आयोजित होने वाले मेला आदि समारोह में डीएमएफ की राशि का उपयोग नहीं किया जाए. इस बैठक में डीएमएफ मद के आय-व्यय के सोशल ऑडिट के लिए राज्य स्तरीय प्रकोष्ठ का गठन भी किया गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि खनिज मद की राशि  का आवंटन प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष प्रभावित  जिलों में निर्धारित अनुपात के आधार पर किया जाए। इसमें नवगठित 5  जिलों के लिए भी राशि का आवंटन सुनिश्चित किया जाए, ताकि विकास कार्यों को प्राथमिकता के साथ समय पर पूर्ण हो सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य व शिक्षा संबंधी उपकरणों की खरीदी के लिए विभागीय बजट का उपयोग किया जाए। इसके लिए डीएमएफ मद का उपयोग ना हो.  उन्होंने कहा कि स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालयों के लिए इस मद से उपकरणों की खरीदी की अनुमति रहेगी। इसी प्रकार खनिज न्यास मद से कार्यालयीन उपयोग के लिए वाहनों की खरीदी प्रतिबंधित रहेगी, लेकिन स्वास्थ्य जैसी अति आवश्यक सेवाओं के लिए एंबुलेंस और शव वाहन खरीदे जा सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा है कि गरियाबंद जिले के हीरा खदान में न्यायालय द्वारा लगाए स्टे आर्डर को वापल लेने के लिए आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करें ताकि वहां के हीरा खदान विधिवत रूप से संचालित करने के लिए आवश्यक प्रक्रिया की जा सके. बैठक में मुख्यमंत्री ने पिछली बैठक के निर्देश में किए गए कार्य और व्यय का अनुमोदन भी किया।

मुख्यमंत्री के सचिव श्री कोमल सिद्धार्थ सिंह परदेशी ने जानकारी दी कि जिला खनिज न्यास के गठन से लेकर अब तक 70 हजार कार्यों के लिए 10 हजार करोड़ रुपए की राशि स्वीकृत की गई है। जिसमें से 43 हजार कार्य पूर्ण हो चुके हैं।

बैठक में स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव, कृषि एवं जल संसाधन मंत्री श्री रविंद्र चौबे, वन एवं परिवहन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव श्री सुब्रत साहू, सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे.

Related posts

अपनी क्षमता का विकास कर, रोजगार लेने वाले से इतर रोजगार देने वाले बनें:राज्यपाल उइके

newindianews

सांसद छाया वर्मा ने दी प्रतिक्रिया, कहा-बेरोजगारों, गृहणियों और आम आदमी की अपेक्षाओं को निराश करने वाला बजट

newindianews

शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे ने कहा कि हमें गर्व है कि भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश के किसान को उनकी उपज का सम्मानपूर्वक दाम मिलने लगा हैं

newindianews

Leave a Comment