New India News
देश-विदेशराजनीति

“हमर छत्तीसगढ़” आसिफ इक़बाल की कलम से…

छत्तीसगढ़ की गोधन न्याय योजना को फिर मिला राष्ट्रीय सम्मान,,,,,,,
हमर छत्तीसगढ़ में भूपेश-सरकार ने खेती को समृद्ध करने और किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में कई अभिनव प्रयोग  और बदलाव किए है।छत्तीसगढ़ सरकार की गोधन न्याय योजना की देश भर में एक नई पहचान बनी है और योजना का सम्मान बढ़ा है।यही वजह है कि “गोधन न्याय योजना”को राष्ट्रीय अवार्ड “एलेट्स एनोवेशन” से सम्मानित किया गया है।गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ को कृषि एनोवेशन वर्ग में इस अवार्ड से सम्मानित किया गया है।देश की राजधानी में एलेट्स आत्मनिर्भर भारत समिट में एलेट्स तक्नॉमीडिया प्रायवेट लिमिटेड के संस्थापक व एडिटर इन चीफ डॉ रवि गुप्ता एवं भारत सरकार के टेक्सटाइल मंत्रालय के सचिव यू पी सिंह ने संयुक्त रूप से यह अवार्ड छत्तीसगढ़ के संयुक्त संचालक आर एल खरे ने हासिल किया है।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने उक्त उपलब्धि की सराहना करते हुए राज्य की जनता,कृषि विभाग,कृषक कल्याण एवं जैव प्रौघोगिकी विभाग तथा गोधन न्याय मिशन के अधिकारियों एवं कर्मचारियों,गौठान समितियों एवं स्व-सहायता समूह की महिलाओं को आत्मीय बधाइयां दी है।यहां यह भी मालूम रहे कि छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को इससे पहले पर्यावरण संरक्षण एवं सतत विकास में उत्कृष्ट योगदान के लिए”स्कॉच गोल्डन अवार्ड” मिल चुका है।मालूम रहे कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विगत 20 जुलाई2020 को हरेली पर्व से छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना की शुरुआत की थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि इस योजना  ग्रामीणों और पशुपालकों को मजबूती प्रदान कर रही है।अवार्ड्स के माध्यम से गोधन न्याय  योजना को राष्ट्रीय पहचान तथा मान्यता मिल रही है

कोरबा ज़िले में पोड़ी उपरोड़ा की बड़ी आबादी”सम्पर्क पुल” के लिए तरस रही,,,,,,,,


हमर छत्तीसगढ़ के विद्युत नगरी कोरबा ज़िले के विकासखण्ड पोंडी उपरोड़ा में आज़ादी के कई दशकों के बाद आज भी बड़ी आबादी आवागमन के सम्पर्क पुल के अभाव में सिर्फ नाव या डोंगी पर आश्रित है।यू तो,उस इलाके पर प्रकृति काफी मेहरबान है।यह इलाका पहाड़ों व हरियाली से आच्छादित हसदेव नदी की गोद में बसा है।लेकिन प्राकृतिक सम्पन्नता के बावजूद यहां की बड़ी आबादी सम्पर्क पुल के लिए तरस रही है,जो बारिश के दिनों में और भी ज़्यादा मुश्किलें पैदा करती हैं।कोरबा के वरिष्ठ पत्रकार व न्यूज़ एक्शन वेब पोर्टल के संपादक गेंदलाल शुक्ला कहते हैं-वैसे देखा जाए तो कोरबा,कटघोरा और पोंडी उपरोड़ा विकासखण्ड के कई गांव नदी किनारे बसे हैं और नदी के दोनों किनारों तक आने-जाने के लिए सड़क मार्ग से लंबी दूरी नापनी पड़ती है या फिर नाव या डोंगी का सहारा लेना पड़ता है।यहां यह भी गौरतलब है कि लालपुर,कोडियाघाट,साखो,धजाककछार जैसे कई इलाकों में रहने वाले आवागमन की इस मामूली समस्या से जूझने मजबूर हैं।हसदेव-बांगों परियोजना का निर्माण होने के बाद एक बड़ा हिस्सा डुबान में आ गया था और लोगों को सही सम्पर्क नदी-पुल आज तक नहीं मिल पाया है।ऐसे में लोगों की रोजमर्रा की दिक्कतों के साथ बीमारी के इलाज वास्ते किसी बड़े शहर ले-जाने मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।चुनाव के समय तो पोलिंग पार्टी से लेकर मतदाताओं को भी दिक्कतें होती हैं।शासन-प्रशासन तक कई दफे इन समस्याओं की जानकारियां पहुंचाई गई लेकिन समाधान आज तक नहीं हो पाया है।इतना ही नहीं,छुरी क्षेत्र के झोराघाट से दूसरे हिस्से को जोड़ने और कोडियाघाट तक सम्पर्क के लिए पुल की ज़रूरत महसूस की जाती रही है।बताते हैं,इसके लिए प्रस्ताव भी बने लेकिन काम कागज़ से बाहर झांक ही नहीं पाया।ऐसा ही मामला साखो क्षेत्र का है।डुबान क्षेत्र की जनता चाहती है कि यहां के लिए भी नई तकनीक से विकल्प तलाशे जाने चाहिए ताकि बारिश के मौसम में दूसरे हिस्से से कटने के दौरान होने वाली समस्याओं से मुक्ति मिल सके।

हमर छत्तीसगढ़ का 33वां ज़िला बना खैरागढ़-छुईखदान-गंडई,,,,,,,,

‘हमर छत्तीसगढ़’ में भूपेश सरकार के साढ़े तीन साल के कार्यकाल में मुख्यमंत्री ने खैरागढ़ विधानसभा सीट पर उपचुनाव जीतने और जीत का प्रमाणपत्र मिलने के मात्र 3 घण्टे के भीतर अपने घोषणा-पत्र और चुनावी वायदा को पूरा कर दिखाया है।भूपेश सरकार ने अपने साढ़े तीन साल के कार्यकाल में खैरागढ़ सहित 5 नए ज़िलों की स्थापना की है।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने आवास-कार्यालय में खैरागढ़-छुईखदान-गंडई को 33 वां नया ज़िला बनाने की घोषणा की और साथ ही मुख्यमंत्री ने साल्हेवारा को पूर्ण तहसील व जालबांधा को उपतहसील का दर्ज़ा दिए जाने की भी महत्वपूर्ण घोषणा की।मुख्यमंत्री आवास-कार्यालय में खैरागढ़ विधानसभा सीट पर उपचुनाव में ज़बर्दस्त जीत के बाद नवनिर्वाचित विधायक श्रीमती यशोदा वर्मा सहित बड़ी संख्या में खैरागढ़ के  नागरिक पँहुचे थे।नवनिर्वाचित विधायक यशोदा वर्मा सहित सभी को जीत की बधाई देते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने खैरागढ़ को नया ज़िला बनाने की घोषणा कर अपना वायदा पूरा कर दिया।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने संबोधन में कहा कि खैरागढ़ उपचुनाव में जीत के जनादेश ने सरकार के पिछले साढ़े तीन साल के कामकाज पर अपनी मुहर लगा दी हैऔर यह सब जनता के विश्वास से संभव हो पाया है।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आगे यह भी बताया कि विधानसभा चुनावों में ऐतिहासिक जीत के बाद कांग्रेस सासंद राहुल गांधी ने कहा था कि सरकार 10 दिनों के भीतर किसानों का कर्ज़ माफ करना चाहिए और सरकार ने इसे 2 घण्टे के भीतर पूराकर दिखाया था,ठीक इसी तरह हमने 24 घण्टे के भीतर खैरागढ़ को ज़िला बनाने का वायदा किया था,उसे भी मात्र 3 घण्टे के भीतर पूरा कर दिखाया है।इसके साथ ही भूपेश बघेल ने खैरागढ़ के मतदाताओं को जीत की बधाइयां देते हुए भरपूर आभार ज़ाहिर किया।उन्होंने भरोसा जताया कि नवनिर्वाचित विधायक यशोदा वर्मा खैरागढ़ क्षेत्र के विकास एवं जनता के लिए  सजग दायित्व का निर्वहन करती रहेंगी।

जेनेरिक दवाओं से लोगों के 6 महीने में ही बचे 17 करोड़ रुपए,,,,,,,
‘हमर छत्तीसगढ़’ के आम लोगों की सुविधा के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा है कि  सरकारी डॉक्टर ब्रांडेड दवाओं की बनिस्पत जेनेरिक दवाएं लिखें,यदि ब्रांडेड दवा लिखी गई तो कार्रवाई होगी।मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव ने तत्काल राज्य के सभी कलेक्टरों एवं मुख्य  चिकित्सा अधिकारियों से कहा  है कि सरकारी डॉक्टरों को जेनेरिक दवाएं लिखना सुनिश्चित करने निर्देशित किया जाए।मुख्यमंत्री आवास-कार्यालय में आयोजित नगरीय निकाय प्रशासन व आवास पर्यावरण विभागों की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने उक्ताशय का महत्वपूर्ण फैसला किया।गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ने आम जनता के हितोँ के मदद्देनज़र जेनेरिक दवाओं पर ज़ोर दिया है क्योंकि यह पाया गया है कि मात्र 6 महीने में ही जेनेरिक दवाओं से लोगों को करीब 17 करोड़ रुपए की बचत हो पाई है और करीब 18 लाख लोगों ने जेनेरिक दवाओं की खरीदी की है।मालूम रहे कि राज्य भर में 159 धन्वंतरि मेडिकल स्टोर्स खोले गए हैं,जहां से जेनेरिक दवाओं पर करीब 70 फीसदी छूट का लाभ भी मिलता है।इसीलिए जेनेरिक दवाओं पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने फोकस किया है।
क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम वर्ग में छत्तीसगढ़ को मिला प्रथम पुरस्कार,,,,,,
‘हमर छत्तीसगढ़,को 21-दिवस टी बी मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत छत्तीसगढ़ राज्य के सभी स्वास्थ्य व हेल्थ वेलनेस केंद्रों में टी बी सम्बंधित स्वास्थ्य सेवाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए टाष्ट्रीय रतर पर 5 करोड़ से कम आबादी वाले वर्ग में छत्तीसगढ़ राज्य को प्रथम पुरस्कार मिला है।छत्तीसगढ़ राज्य में क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के प्रभारी डॉ धर्मेंद्र गहवई ने जानकारी देते हुए बताया कि राज्य में 24 मार्च से 13 अप्रैल 2022 तक राज्य में 21 दिवस-क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम में सभी हैल्थ व वेलनेस केंद्रों में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की गईं।इस अभियान के अंतर्गत घर-घर जाकर क्षय रोग मरीजों की पहचान,जांच व उपचार सेवाओं के साथ टी बी से बचाव के लिए जन-जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए गए।उपचार की पूर्णता के उपरांत प्रत्येक मरीज़ को 500 रुपए का भुगतान निर्धारित मानकों के आधार पर किया गया।जिसमें छतीसगढ़ को प्रथम पुरस्कार मिला है,जो छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य विभाग के लिए बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है।गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ राज्य ने दो वर्ष पहले से 2023 तक क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम का लक्ष्य रखा गया है और इसे लगातार बेहतर किया जाने का प्रयास किया जा रहा है।यहां यह भी बताना ज़रूरी है कि सम्पूर्ण भारत वर्ष में क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम का लक्ष्य वर्ष 2025 तक रखा गया है।
फीमर फ्रेक्चर पर डॉ फुलझेले को अवार्ड-सम्मान,,,,,,
राजधानी रायपुर के मेडिकल कालेज में आर्थो के विभागाध्यक्ष विशेषज्ञ डॉ सत्येंद्र फुलझेले को पश्चिम बंगाल में आयोजित नेशनल कांफ्रेंस में फीमर फ्रेक्चर पर शोध लेक्चर “मैनेजमेंट ऑफ डिस्टल फीमर फ्रेक्चर आई रेट्रोगेट फीमर नेलिंग”विषय पर अवार्ड-सम्मान  प्रदान किया गया।डॉ फुलझेले ने बताया कि फ्रेक्चर साइड को बिना खोले ही मिनिमल ईनसेसिव सर्जरी से इसकी नेलिंग सर्जरी की जाती है और हड्डी आसानी से जुड़ जाती है,साथ ही संक्रमण की आशंका भी कम रहती हैं।जिसके बाद मरीज़ को अस्पताल से जल्दी छुट्टी दे दी जाती है।डॉ फुलझेले के साथ पीजी स्टूडेंट राहुल मिश्रा,डॉ प्रसुन त्रिपाठी,डॉ सोमेश शुक्ला ने शोध पेपर प्रजेंट किया।इस शोध-पेपर की बड़ी सराहना व चर्चा रही।
इस्पात नगरी भिलाई की चर्चित शायरा प्रीति सरू फरमाती हैं,,,
ये आग सियासत ने नफरत की लगाई है,,
सूरज की गवाही को क्यों मान नहीं लेते,,

Related posts

मोहन भागवत कल आएंगे राजधानी रायपुर 10 से 12 सितंबर, अखिल भारतीय समन्वयक समिति की बैठक

newindianews

गोरखपुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रैली को किया संबोधित, योगी आदित्यनाथ को कहा- ‘बुलडोजरनाथ’

newindianews

रायपुर : मंत्रिपरिषद की बैठक : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज यहां उनके निवास कार्यालय में आयोजित मंत्रिपरिषद की बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए

newindianews

Leave a Comment