New India News
Otherनवा छत्तीसगढ़

सीएम भूपेश बघेल ने लॉन्च किया छत्तीसगढ़ का पहला छत्तीसगढ़ी डिजिटल रेडियो स्टेशन “रेडियो संगवारी”

Newindianews/Raipur बीसेंट सर्विसेज की पहल पर छत्तीसगढ़ में पहला छत्तीसगढ़ी डिजिटल रेडियो स्टेशन खुला।

छत्तीसगढ़ का पहला डिजिटल रेडियो स्टेशन ‘रेडियो संगवारी’ लॉन्च हो गया है. रेडियो की दुनिया में 6 साल का अंतराष्ट्रीय स्तर पर अनुभव रखने वाले राहुल शर्मा और डॉ. हेमंत सिरमौर ने ऐप बेस्ड डिजिटल रेडियो स्टेशन स्थापित किया है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को इसका उद्घाटन किया. राहुल इससे पहले अमेरिका के शिकागो में स्थित ‘रेडियो हिंदी’ में भी काम कर चुके हैं. तब ‘अपनी भाषा कही भी, कभी भी’ प्रोग्राम वहा पर बहुत सराहा गया था.
सह- संस्थापक डॉ. हेमंत सिरमौर का कहना है कि ‘रेडियो संगवारी, हमर भाखा हमर गीत” का विज़न लिए, पारंपरिक गीत,संगीत, साहित्य, कर्मा, ददरिया, जसगीत,भावभगत, सत के रद्दा, लोकगीत, पंथी, सुवा, भरथरी, पंडवानी,भोजली, गोंडी, हल्बी भासा के नया पुराना गीत संगीत को ‘रेडियो संगवारी’ अपनी आवाज़ देगा. डॉ. हेमंत का कहना है कि रेडियो संगवारी को टू-जी इंटरनेट स्पीड पर भी आराम से सुना जा सकता है.
इसके संस्थापक राहुल शर्मा से जब पूछा गया की डिजिटल रेडियो स्टेशन का कंसेप्ट उनके दिमाग में कैसे आया तो राहुल का कहना था कि जब वो अन्य प्रदेश की पारंपरिक गीत संगीत वहा के रेडियो स्टेशन में सुनते थे तब उनके मन मे कसक होती थी कि काश हमारे प्रदेश में भी कोई छत्तीसगढ़ी रेडियो स्टेशन होता, जहा लोग छत्तीसगढ़ी भाषा में पारंपरिक लोकगीत -संगीत को सुन पाते.

प्रोग्राम संचालक मनीष बघेल का कहना है कि आज हर कहीं गांव-गांव तक इंटरनेट हैं. डिजिटल मोड में जाने से ऐप के जरिए अब रेडियो को कोई भी कहीं भी सुन सकता है. गूगल प्ले स्टोर में “Radio Sangwari” लिखकर इसे डाउनलोड किया जा सकता है. इसकी सीमाओं की कोई लिमिटेशन नहीं होगी. प्रदेश का पहला छत्तीसगढ़ी डिजिटल रेडियो स्टेशन लॉन्च होने के बाद अब लोग हमारी पारंपरिक गीत, संगीत को विश्व में कही पर भी इंटरनेट की मदत से सुन सकते है.
उक्त अवसर पर राहुल शर्मा, डॉ. हेमंत सिरमौर, मनीष बघेल, आरजे श्रेया, जगमीत सिंह, अनुज शर्मा एवं रेडियो संगवारी के समस्त सदस्य उपस्थित थे।

Related posts

“हमर छत्तीसगढ़” आसिफ इक़बाल की कलम से अंक 75

newindianews

चंदखुरी में 8.20 करोड़ रूपए के विकास कार्यों की सौगात

newindianews

वो कहते हैं ना घर क्या बंटा, बेटी अनजान बन गई, मुल्क क्या बंटा, उर्दू मुसलमान हो गई।

newindianews

Leave a Comment