New India News
Otherनवा छत्तीसगढ़

“हमर छत्तीसगढ़” आसिफ इक़बाल की कलम से अंक-46

हमर छत्तीसगढ़ के मेधावी 119 छात्र – छात्राओं की हेलीकाप्टर से हवाई सैर को घोषणा पूरी..

हमर छत्तीसगढ़ में बोर्ड परीक्षाओं में टॉप करने वाले मेधावी 119 होनहार छात्र – छात्राओं को पहली बार हेलीकाप्टर से हवाई सैर कराई गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक छात्रा की जिद को सरकारी आदेश में तब्दील कर दिया और अपना किया गया वायदा भी पूरा कर दिया।  राजधानी रायपुर के पुलिस मैदान पर बने हेलिपैड से हेलीकाप्टर से हवाई सैर कराने राज्य के सभी 119 मेधावी छात्र – छात्राओं को बुलवा लिया गया था। सुबह 8 बजे से हवाई सैर शुरू की गई। शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने हरी झंडी दिखाकर मेधावी होनहारों की आनंदमयी सैर शुरू की गई। गौरतलब है कि हेलीकाप्टर में 7 सीटें होती हैं, सो बारी-बारी से हवाई सैर शुरू की गई। सबसे पहले मेधावी छात्राओं के नंबर लगे जिसमें होकर होनहार मेधावी छात्र – छात्राओं ने रायपुर शहर का ऊपर से हवाई भ्रमण किया।  ऐसा आनंद दायक हवाई सफर पहली बार छत्तीसगढ़ के मेधावियों के लिए किया गया। वर्ष 2022 की बोर्ड परीक्षा में 10वीं के 90 और 12वीं के 35 छात्र – छात्राओं का समावेश रहा है।
खस्ता सड़कों की शिकायत से मुख्यमंत्री नाराज़, दिसंबर तक गड्ढा मुक्त सड़कों का आदेश…

हमर छत्तीसगढ़ में खस्ता हाल हो रहीं सड़कों की शिकायत पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बेहद नाराज़ हुए और यह नाराज़गी कलेक्टर्स कांफ्रेंस के दूसरे दिन दिखी, जब मुख्यमंत्री लोक निर्माण विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बैठक में दो – टूक शब्दों में कहा की खस्ता व ख़राब सड़कें दिसंबर तक दुरुस्त करें और उसे गड्ढा मुक्त बनाएं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 6131 किलोमीटर की सड़कों में तत्काल पैचवर्क कर के दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को संबोधित करते हुए दिसंबर 2022 तक राज्य की सड़कों को गड्ढामुक्त करने कहा। उन्होंने कहा की सड़कों की मरम्मत के लिए बजट की कमी नहीं आएगी। मुख्यमंत्री ने इस बाबत कलेक्टरों को नोडल अधिकारी के रूप में काम करने के निर्देश दिए हैं। भूपेश बघेल ने सख्ती दिखाते हुए कहा कि दौरे पर जाऊं तो ख़राब सड़कों की शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। सड़क हर हाल में ठीक होनी चाहिए। सड़क किसी भी विभाग की हो, अब कोई बहाना नहीं होना चाहिए और इस बाबत दुबारा चर्चा नहीं करने की बात कही। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि सड़क निर्माण की क्वालिटी (गुणवत्ता) से कोई समझौता नहीं होना चाहिए। उन्होंने सड़क निर्माण की सभी एजेंसियों को आपस में सामंजस्य से काम करने के निर्देश दिए। अब इन कार्यों के लाइट कलेक्टर्स नोडल अधिकारी के रूप में काम करेंगे।  किसी विभाग को सड़क निर्माण में दिक्कत होती है तो वो एन ओ सी दें, जिसके बाद लोक निर्माण विभाग काम करेगा।

शहरी पट्टों का नवीनीकरण शुल्क काम होगा, मुख्यमंत्री कई राहतों के साथ राजस्व वृद्धि न होने से नाराज़…
जिला कलेक्टरों की बैठक से कई सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। पहले लोक निर्माण विभाग की सड़कों की हालत को लेकर कड़ी नाराज़गी उभरकर सामने आई और फिर राजस्व विभाग के कामकाज को लेकर भी गहरी नाराज़गी ज़ाहिर की है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल  ने कलेक्टरों की कांफ्रेंस में राजस्व विभाग के कामकाज पर कई कोणों से नाराज़गी जताई। पहले तो उन्होंने लक्ष्य के अनुरूप राजस्व बढ़ोत्तरी न होने पर नाराज़गी व्यक्त की और कहा कि इसके कारन स्पष्ट करें। राहत भरी बातों के बीच मुख्यमंत्री ने शहरों क्षेत्रों में पट्टों के नवीनीकरण शुल्क कम करने को कहा है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने शुल्क का पुनरीक्षण करने को भी कहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नामांकन और सीमांकन को लेकर भी कड़ी नाराज़गी जताई। मुख्यमंत्री ने कहा कि 3 साल से एक ही जगह पर जमे पटवारियों को हटाने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान मुख्यमंत्री ने नजूल पट्टों के भूमि स्वामी हक़ में परिवर्तन की समीक्षा की। मुख्यमंत्री का साफ़ कहना था कि सरकार के फैसलों का लाभ आम नागरिकों को मिलना चाहिए। उन्होंने कलेक्टरों व राजस्व विभाग को त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिए। भूपेश बघेल ने कहा कि राजस्व अभिलेख को दुरुस्त करने की कार्ययोजना बनाएं और नागरिकों के साथ बैठकर योजनाओं की जानकारी दें।
विश्व प्रसिद्ध बस्तर दशहरा सहित मुरिया दरबार में शामिल हुए मुख्यमंत्री ने कहा आस्था की धरोहर देवगुड़ियों का तेज़ी से होगा कायाकल्प..
हमर छत्तीसगढ़ में संस्कृति व आस्था में बस्तर का अच्छा – खासा महत्व है। बस्तर दशहरा की गिनती विश्व प्रसिद्ध है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बस्तर प्रवास के दौरान बस्तर दशहरा में शामिल हुए। बस्तर दशहरा को आदिवासी समाज के साथ पूरे लोग पूरी आस्था व श्रद्धा से मनाते हैं जो विश्व प्रसिद्ध है। गौरतलब है कि हमर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पूरे 4 साल से बस्तर दशहरा में शामिल होने का सौभाग्य हासिल कर रह हैं। बस्तर दशहरा में भूपेश बघेल मुरिया दरबार में भी भाग लेते हैं और दरबार के मांझी – चालकी, मुखिया, मेंबर-मेंबरिन और अन्य सभी सदस्यों से मिलकर बस्तर के विकास की नीतियों व योजनाओं को मूर्त रूप देने के प्रयास करते हैं जिससे बस्तर के समग्र विकास को नई दिशा देने में अपर सफलताएं मिली है। मुख्यमंत्री मुरिया दरबार में जो घोषणाएं करते हैं उसे पूरा भी करते हैं। मुरिया दरबार में मुख्यमंत्री ने मांझी – चालकी और सभी महिला – पुरुष मेंबरों की पारंपरिक पोशाक के लिए 5 लाख रुपए प्रदान करने की घोषणा की है। इसके साथ ही शासकीय कालेज तोकापाल का नामकरण शहीद हरचंद और शासकीय कालेज बकावंड का नामकरण जरकरण भतरा के नाम से करने की घोषणा की। लोहंडीगुड़ा में इमली प्रसंस्करण कारखाना की शुरुआत होने जा रही है, वहीं देश का सबसे बड़ा मिलेट प्लांट कांकेर जिले में स्थापित किया जा रहा है जबकि कोंडागांव में थक्का प्रसंस्करण पर आधारित एथेनॉल प्लांट स्थापित किया जा रहा है। और जगदलपुर में संभागीय सी – मार्ट की शुरुआत की गई है जिससे बस्तर के उत्पाद देश ही नहीं, विदेशों तक पहुंचेंगे। इस मौके पर उद्योग व प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने बस्तर अंचल के विकास कार्यों को रेखांकित किया जबकि बस्तर सांसद व बस्तर दशहरा पर्व के अध्यक्ष दीपक बैज ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार जताया। बस्तर दशहरा के उपाध्यक्ष बलराम मांझी व कलेक्टर चंदन कुमार ने मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया। इस अवसर पर कमलचंद्र भंजदेव, लखेश्वर बघेल, संतराम नेताम, विक्रम मंडावी, रेखचंद जैन, चंदन कश्यप व कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम, चित्रकोट विधायक राजमन बेंजाम, महापौर सफीरा साहू, सभापति कविता साहू, आई.जी. पी. सुंदरराज, एस.पी. जीतेन्द्र मीणा भी उपस्थित रहे। यहां यह भी बताना ज़रूरी है कि बस्तर के हर गांव में एक विशिष्ट देवी देवता है। गांव के पुजारी हर विशेष मौके पर यहां अनुष्ठान करते हैं, जिसके संरक्षण का बीड़ा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उठाया है। सभी गांवों में देवमुड़ियों को गांव वालों की सहमति से जीर्णोद्धार कराया जा रहा है। इसकी सतत निगरानी भी की जा रही है।  जिला प्रशासन द्वारा जिले के 104 ग्राम पंचायतों में देवगुड़ी का जीर्णोद्धार कराया जा रहा है।
राजधानी पुलिस ने नशे के सौदागरों को घेरा, 2 लाख प्रतिबंधित नशीली टेबलेट के साथ 6 आरोपी गिरफ्तार…
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की कलेक्टर व एसपी कांफ्रेंस में कड़ी कारवाही के निर्देश के बाद राजधानी पुलिस ने नशे के सौदागरों को गिरफ्त में लेकर उनसे 2 लाख नशीली टेबलेट की जब्ती की है जो प्रतिबंधित भी है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एस.एस.पी.) प्रशांत अग्रवाल द्वारा चलाए जा रहे अभियान के तहत राजधानी को नशीली टेबलेट का ज़खीरा मिला है और 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। राजधानी पुलिस ने आजाद चौक थाने के अन्तर्गत मुखबिर की सूचना पर मुकुट नगर के पास दो पहिया वहां चालकों को गिरफ्त में लिया, जो नशीले टेबलेट को बेचने ग्राहक की तलाश कर रहे थे। पुलिस की पूछताछ में रायपुर निवासी जे भास्कर राव तथा कियाजुद्दीन खान को चिन्हांकित कर पकड़ा गया है। ये नशीले टेबलेट अल्फ्राजोलम व स्पस्मों दवा को बिना वैध दस्तावेज के पकड़ा। इनके पास एक बुलेट वाहन सीजी 04 एलआर 3438 तथा पैसेंजर वाहन सीजी 04 एमसी 3416 वाहन को भी जब्त किया गया। गहन पूछताछ में इन्होंने बताया की उनके द्वारा रविन्द्र गोयल नमक व्यक्ति द्वारा अपने वाहन में प्रतिबंधित नशीले टेबलेट रखकर बिक्री करना बताया। आरोपियों की निशानदेही पर आई 20 कार को चिन्हांकित किया गया। रविन्द्र गोयल को गिरफ्तार कर उसके पास से प्रतिबंधित नशीले टेबलेट जप्त किया गया। गोयल के बताने पर पाटन निवासी मुकेश साहू को भी गिरफ्त में लिया गया, इन सभी आरोपियों से पुलिस ने 2 लाख नशीले टेबलेट जब्त किया गया जिसके कीमत 12 लाख आकीं गई है। जब्त वाहनों की कीमत 8 लाख आकीं गई है। कुल 20 लाख की जब्ती का मामला धारा 22 बी व 22 सी नारकोटिक्स एक्ट का अपराध बनाया गया है।
छत्तीसगढ़ के खिलाडियों का 36वें नेशनल गेम्स में शानदार प्रदर्शन, 11 पदक जीते..
गुजरात में आयोजित 36वें नेशनल गेम्स में छत्तीसगढ़ को खिलाडियों ने बेहतर प्रदर्शन किया और 11 पदक जीते हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व खेल मंत्री उमेश पटेल ने विजयी खिलाड़ियों को असीम बधाइयाँ व शुभकामनाएं दी है। गौरतलब है कि नेशनल गेम्स में 36 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों से 7 हजार से ज्यादा खिलाडी विभिन्न 36 खेल विधाओं में भाग ले रहे हैं। छत्तीसगढ़ के खिलाडियों ने अपने चमकीले प्रदर्शन से अब तक कुल 11 पदक जीते हैं। बीते दिन छत्तीसगढ़ के कयाकिंग में के – वन 500 मीटर इवेंट में कौशल नंदिनी ठाकुर ने रजत पदक जीता है। कैनोइंग कियाकिंग संघ के अध्यक्ष बलदेव सिंह भाटिया, कार्यकारी अध्यक्ष रोहित काले, महासचिव अभिजीत मिश्रा, सी डी एस अतुल शुक्ला ने इवेंट के विजयी खिलाडियों को बधाई दी है। छत्तीसगढ़ की महिला मल्लखंभ टीम ने कांस्य पदक हासिल किया है। इस टीम में मोनिका पोटाई, सरिता पोयाम, संजय पोटाई, दुर्गेश्वरी कुमेटी, जयंती कचलाम, डिम्पी सिंह शामिल रही। मल्लखंभ की पुरुष टीम ने पहले ही कांस्य पदक अपने नाम किया है। इसके अध्यक्ष प्रेमचंद शुक्ला व कोच मनोज प्रसाद, श्रीमती पूनम प्रसाद, डॉ राजकुमार शर्मा व सौरभ पॉल ने बधाई दी है। छत्तीसगढ़ के खिलाडियों को 2 गोल्ड, 5 सिल्वर और 6 कांस्य पदक जीत में मिले हैं।  छत्तीसगढ़ की सॉफ्ट बॉल महिला टीम को कांस्य पदक की जीत पर संतोष करना पड़ा जो पहली बार यह जीत मिली है। पुरुष वर्ग की सॉफ्ट बॉल टीम ने भी कांस्य पदक जीता है।
छत्तीसगढ़ अंचल के प्रखर वरिष्ठ पत्रकार, कवि,सिंगर,समालोचक व शायर संदीप तिवारी”राज” फरमाते हैं,,,
“हमारे मुल्क की जम्हूरियत के क्या कहने,,,
अमल से दूर हैं कानून बनाने वाले”,,,

Related posts

इवनिंग वैक्सीनेशन ड्राइव होगी शुरू, वैक्सीनेशन पूर्ण कराने जिला प्रशासन की नई पहल

newindianews

मुख्यमंत्री मितान योजना के माध्यम से लोगों को घर पहुंचाकर दिए गए 14 हजार 545 शासकीय दस्तावेज

newindianews

नगर निगम द्वारा सिंगल यूज प्लास्टिक के विरूद्ध बाजारों में अभियान सहित झोला बैंक से जनजागरण अभियान प्रारम्भ

newindianews

Leave a Comment